12 July 2015

Lyrics Of "Rama Nama Mahima" From Movie - Lava-kusa (2010)

Rama Nama Mahima
Rama Nama Mahima
Lyrics Of Rama Nama Mahima From Movie - Lava-kusa (2010): A devotional song sung by Shankar Mahadevan and music composed by L Vaidyanathan.

Singer: Shankar Mahadevan
Music: L Vaidyanathan
Lyrics: Kiran Mishra, Dharmesh Tiwari.






Lyrics of "Rama Nama Mahima"


ram nam mahima ki katha sunate hai
ram rup man me hanuman dikhate hai
ram nam mahima ki katha sunate hai
ram rup man me hanuman dikhate hai
ram ram jai ram ram jai ram ram jai raja ram
ram ram jai ram ram jai ram ram jai raja ram
shri ram ke charno me barambar naman karte hai
sugriv ke dukh ki vyatha shri ram se hanumat kahte

ati balshali bali ka vadh ram ji hai kuch san kar de
charo or sita ki khoj me vanar veer nikal padte
dhundte pahunche bajrangi lanka me thi janki
pahle karte maa ko parnam phir dete mundri hanuman
rakshash sare hanumat puch me aag laga dete
phir hanuman ji bijli bankar lanka jala dete
ram nam mahima ki katha sunate hai
ram rup man me hanuman dikhate hai
ram ram jai ram ram jai ram ram jai raja ram
ram ram jai ram ram jai ram ram jai raja ram

ant heen sagar ke upar vanar se tu bana de
choti gilahari jaise jeew bhi yogdan hai dete
aarambham prarambham sangramam sambharam
ram ravan ka yudh hua meghnath ki diwya sakti se
murchhit hue lakshman, prano se pyare bhai ko
dekh ram rote shok me dube maa ki bhanti
roye pitar jaise gagan sitare darte sare
hanumat late oshadhi parwat
sanjeevini laye lakhan jiyaye
bane ram sut pyare hanumat
ram nam mahima ki katha sunate hai
ram rup man me hanuman dikhate hai
ram ram jai ram ram jai ram ram jai raja ram
ram ram jai ram ram jai ram ram jai raja ram

kumbhkaran sanghar meghnath sanghar
sun ke ravan chakit hua ye dekho ramban hai dekho
ravan antak hai dekho wo dekho sudharanam
wahi shivam trisulam thap ke bahe kiskandh
chati me jake laga gir gaya wo dharti par
dayta sitara ram use phir use phir
mokshay dete ban taran hara
ram nam mahima ki katha sunate hai
ram rup man me hanuman dikhate hai
ram ram jai ram ram jai ram ram jai raja ram
ram ram jai ram ram jai ram ram jai raja ram

patit pawani janki hai pati ne mangi agni pariksa
ram ne siya ko uphar diya ya nari ka apman kiya
aag ki jalti lapto me sita ban gayi hai savidha
agni dev ki jyoti me sidh hui siya pavitarta
dharti ke upar neel megh jaise ambar me uda pushpak yan hai
satya ka raz hai aaya aise dharm ka chakkar chala hai jaise
ravan ka bhay mit gaya sara ram raz hai ab to aya
ram ram raghuwat parbhu ji rawan sangharak raghuvir
nam japo aashish mile parbhu rama rama nam narayana
ram ram raghuwat parbhu ji rawan sangharak raghuvir
nam japo aashish mile parbhu rama rama nam narayana
ram ram raghuwat parbhu ji rawan sangharak raghuvir
nam japo aashish mile parbhu rama rama nam narayana


Lyrics in Hindi (Unicode) of "राम नाम महिमा"


राम नाम महिमा की कथा सुनाते है
राम रूप मन में हनुमान दिखाते है
राम नाम महिमा की कथा सुनाते है
राम रूप मन में हनुमान दिखाते है
राम राम जय राम राम जय राम राम जय राजा राम
राम राम जय राम राम जय राम राम जय राजा राम
श्री राम के चरणों में बारम्बार नमन करते है
सुग्रीव के दुःख की व्यथा श्री राम से हनुमत कहते

अति बलशाली बालि का वध राम जी है कुछ सण कर दे
चरों और सीता की ख़ोज में वानर वीर निकल पड़ते
ढूंढते पहुँचे बजरंगी लंका में थी जानकी
पहले करते माँ को प्रणाम फिर देते मुंदरी हनुमान
राक्षश सारे हनुमत पुछ में आग लगा देते
फिर हनुमान जी बिजली बनकर लंका जला देते
राम नाम महिमा की कथा सुनाते है
राम रूप मन में हनुमान दिखाते है
राम राम जय राम राम जय राम राम जय राजा राम
राम राम जय राम राम जय राम राम जय राजा राम

अंत हीन सागर के ऊपर वानर से तू बना दे
छोटी गिलहरी जैसे जीव भी योगदान है देते
आरम्भ प्रारंभ संग्रामं संभ्रम
राम रावण का युद्ध हुआ मेघनाथ की दिव्य शक्ति से
मूर्छित हुए गिरे लक्ष्मण, प्राणों से प्यारे भाई को
देख राम रोते शोक में दुबे माँ की भांति
रोये पितृ जैसे गंगन सितारे डरते सारे
हनुमंत लाते औषधि पर्वत
संजीविनी लाये लखन जियाए
बने राम सूत प्यारे हनुमत
राम नाम महिमा की कथा सुनाते है
राम रूप मन में हनुमान दिखाते है
राम राम जय राम राम जय राम राम जय राजा राम
राम राम जय राम राम जय राम राम जय राजा राम

कुम्भकरण संघार मेग्नाथ संघार
सुन के रावण चकित हुआ ये देखों रामवाण है देखों
रावण अन्तक है देखों वो देखों सुधारानाम
वही शिवम् त्रिसुलम थाप के बहे किस्कंध
छाती में जाके लगा गिर गया वो धरती पर
दयता सितारा राम उसे फिर
मोक्षय देते बन तारण हरा

राम नाम महिमा की कथा सुनाते है
राम रूप मन में हनुमान दिखाते है
राम राम जय राम राम जय राम राम जय राजा राम
राम राम जय राम राम जय राम राम जय राजा राम

पतित पावनी जानकी है पति ने मांगी अग्नि परीक्षा
राम ने सिया को उपहार दिया या नारी का अपमान किया
आग की जलती लपटों में सीता बन गई है सविधा
अग्नि देव की ज्योति में सिद्ध हुई सिया पवित्रता
धरती के ऊपर नील मेघ जैसे अम्बर में उड़ा पुष्पक यान है
सत्य का राज़ है आया ऐसे धर्म का चक्कर चला हैं जैसे
रावण का भय मिट गया सारा राम राज है अब तो आया
राम राम रघुवत परभू जी रावण संघारक रघुवीर
नाम जपो आशीष मिले परभू रमा रमा नाम नारायणा
राम राम रघुवत परभू जी रावण संघारक रघुवीर
नाम जपो आशीष मिले परभू रमा रमा नाम नारायणा
राम राम रघुवत परभू जी रावण संघारक रघुवीर
नाम जपो आशीष मिले परभू रमा रमा नाम नारायणा

1 comment: