18 February 2016

Lyrics Of "Saanso Ki Mala" From Mtv Unplugged 5 - Episode 06 (2016)

Saanso Ki Mala
Saanso Ki Mala
A traditional song sung by Rahat Fateh Ali Khan featuring him in song video.
Singer: Rahat Fateh Ali Khan
Music: Traditional
Lyrics: Meera Bai
Features: Rahat Fateh Ali Khan.






The video of this song is available on YouTube at the official channel  MTV Unplugged. This video is of 8 minutes 41 seconds duration.

Lyrics of "Saanso Ki Mala"


aa piya in nainan me
aa piya in nainan me jo mai palak dhanp tohe lu
aa piya in nainan me jo mai palak dhanp tohe lu
na mai dekhu gair ko, na mai tohe dekhne du
na mai dekhu gair ko, na mai tohe dekhne du
kajar daru, kajar daru kirkara jo surma diya na jaaye
jin nainan me piya base bhala duja kaun samaye
jin nainan me piya base bhala duja kaun samaye
neel gagan se bhi pare
neel gagan se bhi pare sawanriya ka gaon
darshan jal ki kamna pat rakhiyo he ram

saanso ki mala pe
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
simru mai pi ka naam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
yahi meri bandagi hai, yahi meri pooja
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
ik ka sajan mandir me, ik ka pritam masjid me
aur saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
saanso ki mala pe
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam

papihe o papihe tu ye kyu aansu bahata hai
zuban pe teri pi pi kisliye reh reh ke aata hai
sada e dard-o-gham, kyu dard bando ko sunata hai
jo khud hi jal raha ho, kyu usko aur jalata hai
kaatu tori chonch papihara, are daalu **
are mai pi ki aur pi hai more, tu pi ka hai kaun
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
apne man ki mai jaanu aur pi ke man ki ram
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
apne man ki mai jaanu aur pi ke man ki ram
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
saanso ki mala pe, saanso ki mala pe
saanso ki mala pe, saanso ki mala pe
saanso ki mala pe, saanso ki mala pe
saanso ki mala pe, saanso ki mala pe
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
pi ka naam, pi ka naam, pi ka naam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam

prem ke rang me aisi dubi
prem ke rang me aisi dubi ban gaya ek hi rup
prem ke rang me aisi dubi ban gaya ek hi rup
prem ke rang me, rang me dubi
prem ke rang me aisi dubi ban gaya ek hi rup
prem ki mala japte japte aap bani main shaam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
prem ki mala japte japte aap bani main shaam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam

pritam ka kuch dosh nahi hai
pritam ka kuch dosh nahi hai woh to hai nirdosh
pritam ka kuch dosh nahi hai woh to hai nirdosh
pritam ka, pritam ka kuch dosh nahi hai
pritam ka kuch dosh nahi hai woh to hai nirdosh
apne aap se baate karke ho gayi main badnaam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
apne aap se baate karke ho gayi main badnaam
saanso ki mala pe simru mai pi ka naam
simru mai pi ka naam, simru mai pi ka naam
simru mai pi ka naam


Lyrics in Hindi (Unicode) of "साँसों की माला"


आ पिया इन नैनन में
आ पिया इन नैनन में जो मैं पलक ढांप तोहे लूँ
आ पिया इन नैनन में जो मैं पलक ढांप तोहे लूँ
ना मैं देखू गैर को, ना मैं तोहे देखने दूं
ना मैं देखू गैर को, ना मैं तोहे देखने दूं
काजर डारु, काजर डारु किरकिरा जो सुरमा दिया ना जाए
जिन नैनन मे पिया बसे भला दूजा कौन समाये
जिन नैनन मे पिया बसे भला दूजा कौन समाये
नील गगन से भी परे
नील गगन से भी परे सावंरिया का गाँव
दर्शन जल की कामना पत रखियो हे राम

साँसों की माला पे
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
सिमरू मैं पी का नाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
यही मेरी बंदगी हैं, यही मेरी पूजा
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
इक का साजन मंदिर में, इक का प्रीतम मस्जिद में
और साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
साँसों की माला पे
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम

पपीहे ओ पपीहे तू ये क्यूँ आंसू बहाता हैं
जुबान पे तेरी पि पि किसलिए रेह रेह के आता हैं
सदा ए दर्द-ओ-ग़म, क्यूँ दर्द बन्दों को सुनाता हैं
जो खुद ही जल रहा हो, क्यूँ उसको और जलाता हैं
काटू तोरी चोंच पपिहरा, अरे डालू **
अरे मैं पि की और पि हैं मोरे, तू पि का हैं कौन
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
अपने मन की मैं जानू और पि के मन की राम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
अपने मन की मैं जानू और पि के मन की राम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
साँसों की माला पे, साँसों की माला पे
साँसों की माला पे, साँसों की माला पे
साँसों की माला पे, साँसों की माला पे
साँसों की माला पे, साँसों की माला पे
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
पी का नाम, पी का नाम, पी का नाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम

प्रेम के रंग में ऐसी डूबी
प्रेम के रंग में ऐसी डूबी बन गया एक ही रूप
प्रेम के रंग में ऐसी डूबी बन गया एक ही रूप
प्रेम के रंग में, रंग में डूबी
प्रेम के रंग में ऐसी डूबी बन गया एक ही रूप
प्रेम की माला जपते जपते आप बनी मैं शाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
प्रेम की माला जपते जपते आप बनी मैं शाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम

प्रीतम का कुछ दोष नहीं हैं
प्रीतम का कुछ दोष नहीं हैं वो तो हैं निर्दोष
प्रीतम का कुछ दोष नहीं हैं वो तो हैं निर्दोष
प्रीतम का, प्रीतम का कुछ दोष नहीं हैं
प्रीतम का कुछ दोष नहीं हैं वो तो हैं निर्दोष
अपने आप से बाते करके हो गई मैं बदनाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
अपने आप से बाते करके हो गई मैं बदनाम
साँसों की माला पे सिमरू मैं पी का नाम
सिमरू मैं पी का नाम, सिमरू मैं पी का नाम
सिमरू मैं पी का नाम

No comments:

Post a Comment