22 March 2016

Lyrics Of "Shehar Mehboob Hai Ji" From Latest Movie - Cute Kameena (2016)

Shehar Mehboob Hai Ji
Shehar Mehboob Hai Ji
A sufi qawwali sung by Javed Ali and music composed by Krsna Solo.

Singer: Javed Ali
Music: Krsna Solo
Lyrics: N/A
Star Cast: Nishant Malkani, Kirti Kulhari, Piyush Mishra, Swanand Kirkire, Benjamin Gilani, Kubraa Sait.



Lyrics of "Shehar Mehboob Hai Ji"


tere jannat ke wade bhi hume beimani lagte hai
hum khush hai rahne do hume bhopali galiyo me
ye shehar mehboob hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji

subah sidhe chay khane bandhe ye taane baane
collego se taakizo tak tafri ke hai thikaane
ab sabke hisse apne apne, ishq-e-kisse apne apne
sabke hisse sabke kisse kisse apne
ishq pe lage fir tohmat purane
wahi naadan dil zaalim zamane
ungat dopahar se dhunde shaamo ke bahane
ye shehar mehboob hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
mera shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai bada khub hai ji

jugnu ki paazeb daale raks karti raate aaye
ghar ke bahar ki dariyo pe ha sab mehfil sajaye
ab har mohalle chape chape, chal ringe ude ude gappe
kahi sach ke raago pe jhuto ke lage dhabbe
aji humari lafazi se kahin talwaar nahi adti
humari jhooto markaz ki sarkaar nahi girti
kisi ke fike se sach me miya hum
jhuth ki do taarwali chashni de to kya hai ji
ye shehar mehboob hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
mera shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai bada khub hai ji

urdu me ye dil milaake der raat kuch to bole
fir jhilo ki thapkiyo pe so jaye ye haule haule
iske hai khabida rate, aasmaan se aate jaate
farishte aur pariya karte hai ye baate
thodi pe iske surme ka koi tika laga do
kaale dhaage me piro koi taabiz bandha do
taa umra shehar mera rahe jawaan ye
ishq se purnoor galiya ya ilaahi iski ho
ye shehar mehboob hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
mera shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai bada khub hai ji

shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
mera shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
ye shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
mera shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai khub hai ji
shehar mehboob hai ji, jaisa bhi hai bada khub hai ji


Lyrics in Hindi (Unicode) of "शहर महबूब है जी"


तेरे जन्नत के वादे भी हमे बेईमानी लगते है
हम खुश है रहने दो हमे भोपाली गलियो में
ये शहर महबूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी

सुबह सीधे चाय खाने बंधे ये ताने बाने
कॉलेजो से टाकिज़ो तक तफरी के है ठिकाने
अब सबके हिस्से अपने अपने, इश्क़-ए-किस्से अपने अपने
सबके हिस्से सबके किस्से किस्से अपने
इश्क़ पे लगे फिर तोहमत पुराने
वही नादान दिल ज़ालिम जमाने
उन्गत दोपहर से ढूंढे शामो के बहाने
ये शहर महबूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
मेरा शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
शहर महबूब है जी, जैसा भी है बड़ा खूब है जी

जुगनू की पाज़ेब डाले रक्स करती रातें आये
घर के बाहर की दरियो पे हाँ सब महफ़िल सजाये
अब हर मोहल्ले छपे छपे, चल रिंगे उड़े उड़े गप्पे
कही सच के रागो पे झूटो के लगे धब्बे
अजी हमारी लफज़ी से कहीं तलवार नहीं अड़ती
हमारी झूठो मरकज़ की सरकार नहीं गिरती
किसी के फीके से सच में मियाँ हम
झूठ की दो तारवाली चाशनी दे तो क्या है जी
ये शहर महबूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
मेरा शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
शहर महबूब है जी, जैसा भी है बड़ा खूब है जी

उर्दू में ये दिल मिलाके देर रात कुछ तो बोले
फिर झीलों की थपकियों पे सो जाये ये हौले हौले
इसके है खबिड़ा रातें, आसमान से आते जाते
फ़रिश्ते और पारियां करते है ये बाते
थोड़ी पे इसके सुरमे का कोई टिका लगा दो
काले धागे में पिरो कोई ताबीज़ बंधा दो
ता उम्र शहर मेरा रहे जवान ये
इश्क़ से पुरनूर गलिया या इलाही इसकी हो
ये शहर महबूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
मेरा शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
शहर महबूब है जी, जैसा भी है बड़ा खूब है जी

शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
मेरा शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
ये शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
मेरा शहर महबूब है जी, जैसा भी है खूब है जी
शहर महबूब है जी, जैसा भी है बड़ा खूब है जी

1 comment:

  1. Javed Ali has so lovely voice. I love to enjoy her songs.

    ReplyDelete